समर्थक

जून 26, 2011

ज़िन्दगी से..........


ज़िन्दगी  से बस यूं ही
 चन्द बातें हुई
 चमन में आये बहार से
 एक मुलाकात हुई

 जलते चिरागों तले
 रोशनी नहीं होती
 चिराग  तले अँधेरे में
 ज़िन्दगी दीदार हुई

 हर तरफ भीड़ है
 हर शख्स है परेशान
इस दुनिया  में ज़िन्दगी
 तू ही है तनहा खडी

13 टिप्‍पणियां:

  1. ज़िन्दगी से बस यूं ही
    चन्द बातें हुई
    चमन में आये बहार से
    एक मुलाकात हुई........
    सितारों की भीड़ में खो गयी थी चांदनी
    आज उसकी खुद से बात हुयी .........बहुत सुन्दर ,,,, खुद से बात की आपने ........

    उत्तर देंहटाएं
  2. हर तरफ भीड़ है -
    हर शख्स है परेशान --

    बहुत सुन्दर

    उत्तर देंहटाएं
  3. sundar kam shabdon mein achhee baatein
    hanso to hanstee zindgee
    roo to rotee zindgee
    jiyo to jeetee zindgee
    jaisaa dekho zindgee ko
    waisee dikhtee zindgee

    उत्तर देंहटाएं
  4. सच कहा आपने ज़िन्दगी ही तन्हा रह जाती है ......

    उत्तर देंहटाएं
  5. जीवन का एक सनातन शाश्वत सत्य प्रस्तुत करती हुई छोटी परन्तु प्रभावशाली कविता..........

    उत्तर देंहटाएं
  6. हर तरफ भीड़ है
    हर शख्स है परेशान
    इस दुनिया में ज़िन्दगी
    तू ही है तनहा खडी


    वाकई अद्भुत रचना

    उत्तर देंहटाएं
  7. adbhut...sach me pyari see rachna..:)
    kabhi hamare blog pe aayen...

    उत्तर देंहटाएं

ब्लॉग आर्काइव

widgets.amung.us

flagcounter

free counters

FEEDJIT Live Traffic Feed