समर्थक

जून 14, 2011

मेरे गाँव में आना.....


मेरे गाँव में आना......................
जहां नदी इठलाती हुई कहती है
आजा पानी में तर जा
ये अमृत सी  बहती  है

मेरे घर का पता ...............
आम के पेड़ के नीचे
पुराने मंदिर के  पीछे
जहां भगवान् बसते है

मेरी शिक्षा-दीक्षा..................
किताब से बाहर
 यथार्थ के धरातल पर
बड़ों को सम्मान
पर स्वयं पर आत्मनिर्भर

मेरे मन की शक्ति ..................
अत्याचार और अन्याय के विरुद्ध
आवाज़ उठाना विरोध जताना
सबको ये महसूस कराना
अपने अधिकार और कर्तव्य
पर करो चिंतन

पर मेरे गाँव के लोग ....................
बड़े भोले-भाले से
रहते है सीधे-सादे से
करते है सहज बात



18 टिप्‍पणियां:

  1. मेरे घर का पता ...............
    आम के पेड़ के नीचे
    पुराने मंदिर के पीछे
    जहां भगवान् बसते है.......

    .बुलाके के हमें आपने गाव में बैठा देना आप की छाव में
    हमने किया है महसूश बड़ा सकूँ मिलता है हमरे गाव में ..बस ..याद आ गयी गाव की ,बहुत सुन्दर कविता.....

    उत्तर देंहटाएं
  2. http://babanpandey.blogspot.com/2011/06/blog-post_14.html

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुन्दर रचना जिस गाँव का आप ने सैर कराया पता बताया प्रभु ये प्यार दुलार बनाये रखें धन्यवाद

    मेरे घर का पता ...............
    आम के पेड़ के नीचे
    पुराने मंदिर के पीछे
    जहां भगवान् बसते है
    शुक्ल भ्रमर५

    उत्तर देंहटाएं
  4. काश सभी गांव ऐसे होते...बहुत सुन्दर भावपूर्ण रचना..

    उत्तर देंहटाएं
  5. सुन्दर रचना.शब्दों ने दृश्य खींच दिए.

    उत्तर देंहटाएं
  6. पर मेरे गाँव के लोग ....................
    बड़े भोले-भाले से
    रहते है सीधे-सादे से
    करते है सहज बात

    आप के जैसे ही तो होंगे आपके गाँव के लोग !

    उत्तर देंहटाएं
  7. ऐसे ही गाँव को तलाश रहे थे , आ पहुंचें ना ...
    बेहद खूबसूरत गीत...कविता का शीर्षक बहुत लुभावना है !

    उत्तर देंहटाएं
  8. आदर्श ग्राम का शब्द चित्र अच्छा लगा।

    उत्तर देंहटाएं
  9. ग्राम्य जीवन की सुंदर झांकी है आपकी कविता में

    आभार

    ब्लॉग4वार्ता-नए कलेवर में

    उत्तर देंहटाएं
  10. सुन्दर भावाभिव्यक्ति ..आभार ....

    उत्तर देंहटाएं
  11. bahu hi achche village ka parichay karayaa aapne rachanaa ke maadhyam se ,bahut hi sunder prastuti.badhaai aapko.

    उत्तर देंहटाएं

ब्लॉग आर्काइव

widgets.amung.us

flagcounter

free counters

FEEDJIT Live Traffic Feed