समर्थक

अक्तूबर 01, 2011

आँखों की भाषा....

आँखों की भाषा पढना सीखो 
खामोशी को चुपके से सुनना सीखो 
शब्द बिना बोले लब से 
जुबां की भाषा समझना सीखो 


सुनो  गुनगुनाती हवा को 
सन सन सन सन कहती है क्या 
शब्दों की मद्धिम आहट सुनकर 
क़दमों को पहचानना सीखो 


छूना न ठहरे पानी को 
इक इक लम्हा गिर जाएगा 
चटक जायेंगी गहराइयां 
ग़म का प्याला दरक जाएगा 


जुबां तुम न खोलो पिया
आँखों से खोलो जिया 
नयनों के अश्कों की 
भाषा को समझना सीखो 

ब्लॉग आर्काइव

widgets.amung.us

flagcounter

free counters

FEEDJIT Live Traffic Feed