समर्थक

मार्च 17, 2010

save the tree

जन मानस के मानसपटल में 
यह बात हमें जगाना है,
न काटो न छेड़ो न दफनाओ 
इन पेड़ों  को हमें बचाना है


धरती के इन वरदानो को 
यूँ ही नष्ट न करो मानव 
गर्त में जाए धरती इससे 
पहले ही जाग जाओ सब 


काव्याना के बोल बचन 
सुन लो ध्यान से रे मानव 
सावधान हो जाओ वर्ना 
नष्ट होगा ये धरती सघन 

ब्लॉग आर्काइव

widgets.amung.us

flagcounter

free counters

FEEDJIT Live Traffic Feed